Tuesday, June 15, 2021 12:07 PM

मजदूरों के हक को हल्ला बोल; सीटू ने प्रदेश में किए प्रदर्शन, प्रधानमंत्री को भेजा ज्ञापन

कार्यालय संवाददाता — शिमला

सीटू के देशव्यापी आह्वान पर मजदूर संगठन सीटू द्वारा हिमाचल प्रदेश के जिला, ब्लॉक मुख्यालयों, कार्य स्थलों, गांव और घर द्वार पर सीटू कार्यकर्ताओं द्वारा मजदूरों की मांगों पर धरने-प्रदर्शन किए गए। इस दौरान प्रदेश भर में हजारों मजदूरों ने अलग-अलग जगह कोविड नियमों का पालन करते हुए ये प्रदर्शन किए। इस दौरान प्रदेश भर में विभिन्न अधिकारियों के माध्यम से प्रधानमंत्री को ज्ञापन सौंपे गए व मजदूरों की मांगों को पूर्ण करने की मांग की गई। इस दौरान शिमला में श्रम आयुक्त कार्यालय पर मजदूरों ने प्रदर्शन किया।

उन्होंने श्रम विभाग में हुए समझौते को लागू करने की मांग की, अन्यथा आंदोलन तेज होगा। सीटू प्रदेशाध्यक्ष विजेंद्र मेहरा ने कोरोना से जान गंवाने वालों को सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशानुसार आपदा राहत कोष से तुरंत चार लाख रुपए जारी करने की मांग की है। उन्होंने सभी आयकर मुक्त परिवारों को 7500 रुपए की आर्थिक मदद व प्रति व्यक्ति दस किलो राशन की व्यवस्था करने की मांग की है, ताकि कोरोना महामारी से बेरोजगार हुए लोगों का जीवन यापन सुनिश्चित किया जा सके। उन्होंने कोरोना वैक्सीन का सार्वभौमिकरण करने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि कोरोना काल में केंद्र व प्रदेश सरकारें मजदूरों, किसानों, खेतिहर मजदूरों व तमाम मेहनतकश जनता की रक्षा करने में पूर्णत: विफल रही है व उन्होंने केवल पूंजीपतियों की धन दौलत संपदा को बढ़ाने के लिए ही कार्य किया है।