Sunday, March 07, 2021 05:02 PM

बहड़ाला में डोपलर से जांचीं गाडिय़ों की स्पीड

गगरेट। ग्रामीण संसद के चयन के लिए शुरू हुआ महाकुंभ गुरुवार को समाप्त हो गया। पंचायत चुनाव के अंतिम चरण में गुरुवार को विकास खंड गगरेट की 14 ग्राम पंचायतों में नए जनप्रतिनिधि चुनने के लिए मतदान हुआ। ग्रामीण संसद चुनने के लिए लोगों ने खासा उत्साह दिखाया। विकास खंड गगरेट की चौदह ग्राम पंचायतों में 82.43 प्रतिशत मतदान रिकार्ड किया गया। ग्राम पंचायतों के लिए मतदान समाप्त होने के साथ ही शुक्रवार सुबह पंचायत समिति व जिला परिषद के चुनाव की मतगणना होगी। इस बार मतगणना पंचायत समिति वार्ड गुगलैहड़ से शुरू होगी और सबसे पहले जिला परिषद वार्ड अंबोटा का चुनाव परिणाम घोषित होगा।

पंचायत चुनाव के अंतिम चरण में भी मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुआ। हालांकि तीनों चरणों में पंचायत चुनाव छिटपुट घटनाओं को छोड़कर शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गए। गुरुवार को विकास खंड गगरेट की ग्राम पंचायत अंबोआ, ब्रह्मïपुर, गणु मंदवाड़ा, पिरथीपुर, कैलाश नगर, कुठेड़ा जसवालां, ओयल, गगरेट अप्पर, मवा कहोलां, भंजाल अप्पर, गोंदपुर बनेहड़ा लोअर, चलेट, नकड़ोह व अमलैहड़ में चुनाव संपन्न हुए। पंचायत चुनाव के अंतिम चरण में भी ग्रामीण संसद चुनने के लिए लोगों ने खूब उत्साह दिखाया। विकास खंड गगरेट की चौदह ग्राम पंचायतों में 82.43 प्रतिशत मतदान रिकार्ड किया गया। पंचायत चुनाव का अंतिम चरण समाप्त होने के साथ ही ग्राम पंचायतों को विकास के पथ पर अग्रसर करने के लिए नए जनप्रतिनिधि चुन लिए गए हैं।

नगर संवाददाता-ऊना

राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा जागरूकता एवं निरीक्षण अभियान के अंतर्गत गुरुवार को आरटीओ ऊना रमेश चंद कटोच एवं ऊना पुलिस के संयुक्त दल ने मैहतपुर-ऊना रोड़ पर बहड़ाला में डोपलर डिवाइस के माध्यम से 90 वाहनों की जांच की जिनमें से 27 वाहनों की गति डोपलर में निर्धारित गतिसीमा से अधिक पाई गई। आरटीओ ने ओवरस्पीड चलने वाले चालकों को जागरूक करते हुए तेज रफ्तार से चलने पर होने वाली दुर्घटनाओं बारे जनसाधारण-चालकों को चेतावनी देेते हुए मोटर वाहन अधिनियम में दर्शित चालान के कारण वित्तीय हानि, दुर्घटना के अंदेशों, ओवरस्पीड से वाहन के कलपुर्जों की क्षति, अधिक पेट्रोल, डीजल की खपत व जानलेवा संभावनाओं के बारे में लोगों को जानकारी दी।

ओवरस्पीड के लिए 1000 से 4000 रुपए, खतरनाक ड्राइविंग के लिए 1000 से 5000 रुपए, बिना हेल्मेट एक हजार रुपए, बिना सीट बैल्ट एक हजार रुपए, बिना लाइसेंस 5000 रुपए तक का जुर्माना होगा। रमेश कटोच ने बताया कि शराब व अन्य मादक पदार्थ चरस, अफीम, कोकिन व नशीली दवाइयों का सेवन करने से हमारी दृष्टि अनुमान व निर्णय लेने की क्षमता पर बहुत बुरा असर पड़ता है। जिससे वाहन चलाते समय भयंकर दुर्घटना हो सकती हैं।