Friday, September 25, 2020 09:50 PM

टाइफायड में क्‍या न खाएं

टाइफाइड एक संक्रामक रोग है जो साल्मोनेला बैक्टीरिया के कारण होता है, ये आमतौर पर मानसून के मौसम में ज्यादा फैलता है। टाइफाइड के दौरान ठंड लगना और बुखार, कब्ज, थकान, सिर दर्द जैसी समस्याएं होती है। इस स्थिति में समय पर इलाज की बहुत जरूरत होती है, नहीं तो पीडि़त की स्थिति गंभीर भी हो सकती है। कई मामलों में मतली और भूख की कमी का अनुभव होता है। हालांकि, इलाज के साथ एक बेहतर डाइट की भी जरूरत होती है जो जल्द मरीज को स्वस्थ करने में मदद करती है। शरीर को शक्ति और ऊर्जा देने के लिए नियमित अंतराल पर भोजन के छोटे हिस्से का सेवन करना बहुत जरूरी होता है। इसलिए जरूरी होता है कि टाइफाइड के लिए उच्च कैलोरी खाद्य पदार्थों की सिफारिश की जाती है। लेकिन फिर भी कई लोग अनजाने में कुछ ऐसे भोजन का सेवन करते हैं, जो उनके स्वास्थ्य पर बुरा असर डालते हैं। आइए जानते हैं टाइफाइड के दौरान किन भोजन को अपनी डाइट में नहीं रखना चाहिए।

कच्ची सब्जियां

कच्ची सब्जियां वैसे भी हमारे स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक होती है खासकर तब जब बारिश का मौसम हो। ऐसे में टाइफाइड के मरीज को भी कच्ची सब्जियों से दूर रखना चाहिए। ऐसा इसिलए क्योंकि इस तरह की सब्जियां या बिना पकाएं सब्जियों में कई बैक्टीरिया और वायरस मौजूद होते हैं ,जो आसानी से शरीर में पहुंचने में कामयाब रहते हैं। इसके अलावा आपको गोभी, शिमला मिर्च, शलगम को टाइफाइड के मरीज की डाइट में शामिल नहीं करना चाहिए। ये सब्जियां शरीर में सूजन पैदा करने का काम कर सकती हैं। इसलिए अगर आप किसी हरी सब्जी का सेवन करना भी चाहें, तो उसे अच्छी तरह से पका कर ही खाएं और वो ताजी होनी चाहिए।

ऑयली फूड्स

टाइफाइड के मरीज की डाइट में ऑयली फूड्स को बाहर रखना चाहिए। तैलीय भोजन के साथ घी और मक्खन का सेवन भी न करने दें। इसके साथ ही ज्यादा मसाले वाली चीजों से भी परहेज करें।

The post टाइफायड में क्‍या न खाएं appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.