Friday, September 25, 2020 09:26 PM

तीन साल से पुल का इंतजार

शिलान्यास से आगे नहीं बढ़ा ब्रिज का काम, लोगों की बढ़ी दिक्कतें

नगरोटा सूरियां – नगरोटा सूरियां के साथ गज खड्ड पर बनने वाला पुल शायद सपना रह जाएगा। बताते चलें कि पूर्व में वीरभद्र सरकार द्वारा पर्यटन की दृष्टि से कई गांवों को जोड़ने वाले  पौंग झील के साथ गज खड्ड पर पुल के निर्माण के लिए शिलान्यास किया था । तीन साल बाद भी पुल का काम शुरू नहीं पाया है।

ऐसे में लोगों को पुल की सुविधा न मिलने से दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।  564784200 करोड़ से बनने वाले इस पुल का शिलान्यास पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह ने किया था और कहा था कि यह पुल दो वर्ष में बनकर तैयार हो जाएगा । इस पुल के बनने से जहां करीब तीन पंचायतों के ग्रामीणों को लाभ मिलेगां तथा जवाली को जाने के लिए भी दूरी करीब आठ किलोमीटर कम हो जानी थी , लेकिन सरकार बदलने के बाद अभी तक कुछ नहीं हुआ।

पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सरकार  तथा उस समय के विधायक रहे सीपीएस नीरज भारती के द्वारा इस पुल का पूरा सर्वे करवा लिया गया था और कुछ करोड़ का बजट जारी कर दिया गया था, परंतु जब से वीरभद्र सिंह की सरकार गई है पुल तो दूर बनने की बात पुल की आधारशिला को भी शरारतीतत्त्वों द्वारा तोड़ दिया गया है या फिर  यह आधारशिला टूट गई है। स्थानीय विधायक द्वारा इस पुल को बनाने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई गई है, जिसस जवाली विधानसभा क्षेत्र के लोगों में खासकर नगरोटा सूरियां जरोटघाड़-जरोट के साथ लगती पंचायतों के ग्रामीणों में जयराम सरकार के प्रति भारी रोष है।

बताया जाता है कि अगर यह पुल बन जाता  है तो नगरोटा सूरियां पौंग झील में पर्यटकों की तादाद काफी बढ़ सकती है।  ऐसे ही हाल नगरोटा सूरियां में डिग्री कालेज का है। भवन भी बनकर पूरी तरह से तैयार है, परंतु उसका भी विधायक उद्घाटन तक नहीं करवा पाए हैं।  स्थानीय लोगों ने मुख्यमंत्री से गुहार लगाई है कि शीघ्र इस पुल के निर्माण कार्य को शुरू कराया जाए, ताकि जनता को इसका लाभ मिल सके।

The post तीन साल से पुल का इंतजार appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.