Tuesday, December 07, 2021 05:36 AM

टीजीटी रिजल्ट नवंबर के अंत में, आयोग को हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से मिली क्लेरिफिकेशन

आयोग को हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से मिली क्लेरिफिकेशन

सुरेंद्र ठाकुर— हमीरपुर

लंबे समय से टीजीटी आट्र्स, टीजीटी मेडिकल, नॉन मेडिकल के फाइनल परिणाम का इंतजार कर रहे युवाओं को राहत मिलने वाली है। हालात सामान्य रहे, तो हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग नवंबर के अंत तक टीजीटी आट्र्स, मेडिकल, नॉन मेडिकल, एलटी तथा शास्त्री का फाइनल रिजल्ट घोषित कर सकता है। मूल्यांकन प्रक्रिया पूरी करने से पूर्व हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से मांगी गई क्लेरिफिकेशन आयोग को मिल गई है। ऐसे में अब कर्मचारी चयन आयोग मूल्यांकन प्रक्रिया को अमलीजामा पहनाने में जुट गया है। सूत्रों की मानें, तो अक्तूबर महीने के अंत तक भी दो पोस्ट कोड के परिणाम घोषित हो सकते हैं। हालांकि ये दो पोस्ट कोड कौन से होंगे, इसके बारे में स्थिति स्पष्ट नहीं की जा रही। बाकी पोस्ट कोड के फाइनल परिणाम नवंबर अंत तक निकाले जाएंगे। फिलहाल लंबे समय से फाइनल परिणाम का इंतजार कर रहे युवाओं को जल्द राहत मिलने जा रही है। जानकारी के अनुसार, टीजीटी आट्र्स पोस्ट कोड-305, टीजीटी मेडिकल पोस्ट कोड-793, टीजीटी नॉन मेडिकल पोस्ट कोड-794, एलटी पोस्ट कोड-814, शास्त्री पोस्ट कोड-813 का फाइनल परिणाम घोषित होना बाकी है।

निर्धारित सभी चरण पूरा होने के बावजूद फाइनल परिणाम लटका हुआ है। लिखित परीक्षा सहित शैक्षणिक तथा अन्य प्रमाण पत्रों की वेरिफिकेशन हो चुकी थी। निर्धारित चरण पूरा होने के बाद भी मूल्यांकन प्रक्रिया में रूसा सिस्टम सहित अन्य कई अड़चने सामने आ गईं। ऐसे में आयोग के समक्ष मूल्यांकन प्रक्रिया में अंक देने में असमंजस वाली स्थिति बन गई। बाद में इस स्थिति से पार पाने के लिए हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग ने क्लेरिफिकेशन मांगी, ताकि स्थिति स्पष्ट हो सके। अब हिमाचल विवि की तरफ से क्लेरिफिकेशन मिल गई है। अभ्यर्थियों की मानें तो मार्च महीने में ही डाक्यूमेंट वेरिफिकेशन प्रक्रिया को पूरा कर लिया गया था। बाद में कोरोना संक्रमण के मामले बढऩे से प्रक्रिया धीमी पड़ गई। यही कारण रहा कि अब तक परिणाम नहीं निकल पाया है। वहीं मूल्यांकन प्रक्रिया के दौरान अंक देने में पैदा हुई असमंजस की स्थिति से पार पाने के लिए हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से क्लेरिफिकेशन लेनी पड़ी। (एचडीएम)