Friday, September 25, 2020 04:03 AM

थम सकते हैं निजी बसों के पहिए

रूटों पर सवारियां न मिलने से खड़ी हो सकती हैं कई गाडि़यां

शिमला-हिमाचल प्रदेश में मंगलवार को कई निजी बसों के पहिए थम सकते है। रूटों पर सवारियां कम होने और रोजाना हो रहे घाटे के चलते मंगलवार को कई बसें खड़ी हो सकती हैं।  राज्य में किराया बढ़ोतरी के बाद कई ऑपेरटर्ज ने बसों का संचालन आरंभ कर दिया था, मगर रूटों पर सवारियां कम मिलने से निजी बस ऑपरेटर्ज को रोजाना घाटे का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में कई ऑपरेटर्ज ने फिर से बसें खड़ी करने का फैसला लिया है। राज्य में मौजूदा समय में 1100 से 1200 बसें रूट पर दौड़ रही हैं। अगर ये बसें खड़ी हो जाती है तो आगामी दिनों में जनता को आवाजाही के लिए परेशानियों का सामना करना पड सकता है।  हिमाचल निजी बस ऑपरेटर यूनियन के महासचिव रमेश कमल ने कहा कि निजी बस ऑपरेटर किसी विरोध स्वरूप बसें खड़ी नहीं कर रहे हैं। जिन ऑपरेटर्ज को रूटों पर सवारियां नहीं मिल रही हैं, उन्होंने फिर से बसों को खडे करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि फुल सिटिग कैपेसिटी के साथ बसों के संचालन और किराया बढ़ोतरी के बाद राज्य में अधिकतर बस ऑपरेटर्ज ने बसों को रूटों पर उतार दिया था, मगर सवारियां कम मिलने से ऑपरेटर डीजल का पैसा भी पूरा नहीं कर पा रहे हैं।  उल्लेखनीय है कि निजी बस बेडे़ में 3300 के करीब बसें हैं। इनमें से मौजूदा समय में केवल मात्र 1100 से 1200 बसें ही चल पा रही हैं। अगर ऑपरेटर फिर से बसे खड़ी कर देते है तो प्रदेश में जनता को दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। ऐसे में परिवहन का जिम्मा फिर से एचआरटीसी पर आ जाएगा।

The post थम सकते हैं निजी बसों के पहिए appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.