Saturday, October 31, 2020 12:57 AM

तीन टिप्पर जब्त

सोमभद्रा नदी का खरा सोना कहे जाने वाले रेत की तस्करी कर पंजाब पहुंचा रहे खनन माफिया पर जिला पुलिस ने टेढ़ी नजर कर ली है। जिला पुलिस कप्तान ने अब खनन माफिया का फन कुचलने के लिए अपनी नीति में बदलाव किया है। तय क्षमता से अधिक रेत ले जाने वाले टिप्परों के चालान कर पुलिस अब जुर्माना वसूल नहीं करेगी बल्कि इन्हें अब जब्त कर चालान अदालत को भेजे जाएंगे। बुधवार रात्रि गगरेट पुलिस ने तय क्षमता से अधिक रेत ले जा रहे तीन टिप्परों के चालान कर इन्हें जब्त किया है। पिछले लंबे समय से जिला ऊना की स्वां नदी की रेत अवैध तरीके से पंजाब पहुंचाने का सिलसिला चला हुआ है लेकिन खनन विभाग भी इन पर सख्त कार्रवाई नहीं कर पाया है।

हैरत की बात यह है कि पंजाब को जाने वाले ये टिप्पर रेत हरोली क्षेत्र से ला रहे हैं लेकिन अब पंजाब में कार्रवाई से बचने के लिए इन्होंने अपना रूट बदल कर वाया गगरेट कर लिया है। मजेदार बात यह है कि नौ मीट्रिक टन एम-फार्म पर 27 मीट्रिक टन रेत ले जाया जा रहा है। शायद खनन विभाग ने कभी इस गौरखधंधे का पटाक्षेप करने का प्रयास ही नहीं किया जबकि इसी प्रकार प्रदेश सरकार को भी रोजाना लाखों रुपये का चूना लगाया जा रहा है।

गगरेट पुलिस ने अब जरूर जरा सख्ती दिखाई है और अब रोजाना ऐसे टिप्परों के चालान किए जा रहे हैं लेकिन जिला पुलिस कप्तान अर्जित सेन ने अब पुलिस को भी सख्त हिदायत दी है कि ऐसे टिप्परों के चालान कर जुर्माना वसूलने की बजाय ये चालान कोर्ट में पेश किए जाएं। वहीं, डीएसपी सृष्टि पांडे ने बताया कि तीन टिप्पर के चालान कर जब्त किया गया है। ये चालान कोर्ट में प्रस्तुत किए जा रहे हैं।

The post तीन टिप्पर जब्त appeared first on Divya Himachal.