Tuesday, September 22, 2020 08:46 PM

टीएमसी को ढूंढे नहीं मिल रहे ओटीए, 20 में से 13 ऑपरेशन थिएटर असिस्टेंट्स के पद खाली

आउटसोर्स के भी क्वालिफाई नहीं कर पाए अभ्यर्थी, खल रही स्टाफ की कमी

हैडक्वार्टर ब्यूरो — कांगड़ा

प्रदेश में बेहतरीन स्वास्थ्य सुविधाएं दे रहा डा. राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कालेज टांडा ऑपरेशन थियेटर असिस्टेंट्स (ओटीए) की कमी से जूझ रहा है। यहां ओटीए के 20 पद सजृत हैं, जबकि वर्तमान में तैनाती मात्र सात ओटीए की ही है। टीएमसी में अरसे से 13 पद खाली चल रहे हैं। ऑपरेशन थियेटर में सहायक (ओटीए) के तौर पर 20 की तैनाती की बजाय मात्र सात के सहारे ही मरीजों का ऑपरेशन किया जा रहा है।

 ऐसे में ऑपरेशन थियेटर में सहायकों पर काम का वर्कलोड बढ़ता जा रहा है। लंबे समय से रिक्त चल रहे पद भरने के लिए टीएमसी प्रशासन की ओर से इन्हें भरे जाने के लिए स्वास्थ्य विभाग को भी लगातार पत्र लिखा जा रहा है। हालांकि अभी कुछ समय पहले ही टीएमसी ने टेंडर प्रक्रिया के माध्यम से आउटसोर्स पर छह नए ओटीए मांगे थे, लेकिन बताया जा रहा है कि अस्पताल प्रशासन द्वारा मांगी गई क्वालिफिकेशन को कोई भी पूरा नहीं कर पाया है। इसके चलते अभी तक यहां आउटसोर्स पर भी किसी नए ओटीए की नियुक्ति नहीं हो पाई है। ऐसे में स्टाफ पर भी वर्कलोड बढ़ता दिख रहा है। बता दें कि टीएमसी में 24 घंटे मरीजों के ऑपरेशन होते हैं। यहां नौ ऑपरेशन थिएटर वर्किंग में हैं, जबिक छह अभी अंडर रिपेयर चल रहे हैं। दिन-रात यहां ऑपरेशन जारी हैं।

दरअसल ऑपरेशन थिएटर असिस्टेंट का कार्य होता है कि वह अस्पताल के ऑपरेशन थिएटर में दाखिल मरीजों को संबंधित डाक्टर आदि के निर्देशों के अनुसार चिकित्सा कार्यों में सहयोग करे और ऑपरेशन थिएटर में रखे उपकरणों का निर्देशों के अनुसार संचालन करे। ऑपरेशन थियेटर असिस्टेंट की भूमिका अस्पतालों के ऑपरेशन थिएटर में मरीजों के इलाज के संदर्भ में बहुत महत्त्वपूर्ण होती है। ऑपरेशन थियेटर असिस्टेंट को सुनिश्चित करना होता है कि डाक्टरों के निर्देशों के अनुसार मरीज की जांच हो, आवश्यक उपकरणों के इस्तेमाल से मरीजों की मॉनिटरिंग करे और संबंधित रिपोर्ट को अपडेट हो।

उपकरणों की होनी चाहिए अच्छी नॉलेज

ऑपरेशन थियेटर असिस्टेंट बनने के लिए आवश्यक स्किल्स में से जरूरी है कि आपको ऑपरेशन थियेटर में उपयोग होने वाले विभिन्न प्रकार के उपकरणों एवं संबंधित परीक्षणों की अच्छी नॉलेज होनी चाहिए। बता दें कि टीएमसी में कोविड के चलते इन दिनों 500 बेड की सुविधा भी दी जा रही है। इसके अलावा 14 स्पेशल वार्ड भी मरीजों के लिए खाले गए हैं। जल्द ही रिक्त पदों पर नया स्टाफ नियुक्त होने की भी उम्मीद जताई जा रही है।

The post टीएमसी को ढूंढे नहीं मिल रहे ओटीए, 20 में से 13 ऑपरेशन थिएटर असिस्टेंट्स के पद खाली appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.