Friday, September 25, 2020 09:22 AM

टीएमसी को तीन नए आपरेशन थियेटर असिस्टेंट

टांडा मेडिकल कालेज के लिए अच्छी खबर; आउटसोर्स पर हुईं नई नियुक्तियां, तीन और पदों पर जल्द होगी प्रक्रिया पूरी

हैडक्वार्टर ब्यूरो-कांगड़ा

आपरेशन थियेटर असिस्टेंटों (ओटीए) की कमी से जूझ रहे डा. राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कालेज टांडा के लिए अच्छी खबर है। टीएमसी में तीन नए आपरेशन थियेटर असिस्टेंटस की भर्ती कीे गई है। आउटसोर्स पर भर्ती किए गए इन नए ओटीए की लिस्ट गुरुवार शाम को संबंधित कंपनी द्वारा मेडिकल सुपरिटेंडेंट को भेज दी गई है। एमएस आफिस से हरी झंडी मिलते ही आगामी प्रक्रिया पूरी होगी व इनकी तैनाती टांडा में होगी। मैसर्ज आरके एंड कंपनी आउटसोर्स पर ओटीए की नियुक्तियां कर रही हैं। टीएमसी में छह पदों पर यह भर्ती प्रक्रिया जारी है, जिनमें से अब तीन पद भरे जा चुके है व उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही शेष तीन पदों पर नई नियुक्तियां हो जाएगीं।

बता दें कि डा. राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कालेज टांडा में आपरेशन थियेटर असिस्टेंटों (ओटीए) के 20 पद सजृत हैं, जबकि वर्तमान में केवल सात ओटीए ही तैनात हैं। ऐसे में आपरेशन थियेटर में सहायकों पर काम का वर्कलोड बढ़ता जा रहा था। अभी कुछ समय पहले ही टीएमसी ने टेंडर प्रक्रिया के माध्यम से आउटसोर्स पर छह नए ओटीए मांगे थे, जिनमें से अब तीन पदों पर नए ओटीए की भर्ती की गई है। हालांकि इससे पहले अस्पताल प्रशासन द्वारा मांगी गई क्वालीफिकेशन को कोई भी पूरा नहीं कर पा रहा था। ऐसे में स्टाफ पर भी लगातार वर्क लोड बढ़ रहा था। टांडा में 24 घंटे मरीजों के आपरेशन होते हैं। यहां नौ आपरेशन थिएटर वर्किंग में है, जबिक छह अभी अंडर रिपेयर चल रहे हैं। दिन-रात यहां आपरेशन जारी हैं। काबिलेगौर है आपरेशन थियेटर असिस्टेंट का कार्य होता है कि वह अस्पताल के आपरेशन थियेटर में दाखिल मरीजों को संबंधित डाक्टर आदि के निर्देशों के अनुसार चिकित्सा कार्यों में सहयोग करे और आपरेशन थियेटर में रखे उपकरणों का निर्देशों के अनुसार संचालन करें।

ऑपरेशन थियेटर असिस्टेंट की भूमिका अस्पतालों के आपरेशन थियेटर में मरीजों के इलाज के संदर्भ में बहुत महत्त्वपूर्ण होती है। आपरेशन थियेटर असिस्टेंट को सुनिश्चित करना होता है कि डाक्टरों के निर्देशों के अनुसार मरीज की जांच हो, आवश्यक उपकरणों के इस्तेमाल से मरीजों की मॉनिटरिंग करे और संबंधित रिपोर्ट अपडेट हो। इसलिए आपरेशन थियेटर असिस्टेंट बनने के लिए आवश्यक स्किल्स में से जरूरी है कि आपको ऑपरेशन थियेटर में उपयोग होने वाले विभिन्न प्रकार के उपकरणों एवं संबंधित परीक्षणों की अच्छी नॉलेज होनी चाहिए। बहरहाल टांडा को तीन नए ओटीए मिलने से काफी राहत मिलेगी।

The post टीएमसी को तीन नए आपरेशन थियेटर असिस्टेंट appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.