Tuesday, December 07, 2021 05:16 AM

ग्रामीणों को बताया, बाल यौन शोषण -संरक्षण

नगर संवाददाता- चंबा चाइल्डलाइन चंबा की ओर से शनिवार को सुंगल पंचायत के आंगनबाड़ी केंद्र पंजून और हरिपुर पंचायत के आंगनबाडी केंद्र गैला में आउटरीच कार्यक्रम के जरिए ग्रामीणों व बच्चों से सीधा संवाद किया। इस मौके पर आंगनबाड़ी केद्र पंजून की कार्यकर्ता कनु देवी, आंगनबाड़ी केंद्र गैला की कार्यकर्ता वंदना कुमारी, सहायिका लांबी देवी और सुंगल पंचायत की वार्ड मेंबर कमलेश कुमारी भी विशेष तौर से मौजूद रहीं। कार्यक्रम के दौरान चाइल्डलाइन के टीम मेंबर चमन सिंह, रीता कुमारी, काजू राम व विक्की द्वारा बाल यौन शोषण व बाल-संरक्षण मुद्दों व कोविड-19 संक्रमण की गंभीरता विषयों पर जानकारी दी। उन्होंने चाइल्डलाइन के टोल फ्री नंबर 1098, गुडिय़ा हेल्पलाइन 1515 और कोरोना की हेल्पलाइन नंबर 1075 की सुविधा बारे भी लोगों को जागरूक किया। उन्होंने लोगों को चाइल्डलाइन के माध्यम से उपलब्ध सुविधाओं के अलावा पोक्सो अधिनियम के संबंध में भी जागरूक किया गया।

इसके साथ-साथ नशे की बुराई व सुरक्षित स्पर्श असुरक्षित स्पर्श के बारे में भी गंभीरता से चर्चा की गई। चाइल्डलाइन टीम ने लोगों को कोविड-19 संक्रमण की गंभीरता को समझते हुए सरकार की ओर से जारी दिशा- निर्देशों की पालना करने को कहा। उन्होंने विशेषकर सोशल डिस्टेंसिंग की अनुपालना सुनिििश्चत बनाने को कहा। कार्यक्रम के दौरान लोगों को कोरोना वैक्सीनेशन के प्रति भी जागरूक किया गया। इसके साथ ही लोगों को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के गठन व उददेश्यों के बारे में भी बताया। लोगों को प्राधिकरण के माध्यम से मिलने वाली निशुल्क कानूनी सहायता के बारे में भी जानकारी दी गई। इसके साथ-साथ लोगों से यह भी आहवान किया गया कि यदि इस दौरान कोई अति निर्धन परिवार, जिसे कहीं मजदूरी ना मिल रही हो या उसके परिवार हेतु खाने-पीने की समुचित व्यवस्था ना हो मास्क या सेनेटाइजर की आवश्यकता हो तो इसकी सूचना भी चाइल्डलाइन के टोल फ्री नंबर 1098 पर दी जा सकती है ताकि छानबीन के बाद ऐसे परिवारों की मदद की जा सके। ग्रामीणों व बच्चों ने भाग लिया।