Sunday, March 07, 2021 11:10 PM

होटलों में दुबके सैलानी

किन्नौर में ज्यादा बर्फबारी होने से एनएच-पांच हुआ ठप; पांच घंटे थमे वाहनों के पहिए, ठंड बढ़ी

दिव्य हिमाचल ब्यूरो-रिकांगपिओ

किन्नौर जिला में दो दिनों की बारी बर्फबारी ने यहां के जनजीवन को पूरी तरह पटरी से उतार दिया है। बुधवार को जिला की अस्सी  फीसदी संपर्क सड़क मार्गों पर परिवहन निगम की बसें नही चल पाई हैं। किन्नौर के निचले क्षेत्रों सहित रिकांगपिओ आदि क्षेत्रों में ही वाहनों की आवाजाही देखी गई। टिंकू नाला सहित भगत नाला में ग्लेशियर गिरने से किन्नौर के ऊपरी क्षेत्र सहित स्पीति की और जाने वाली एनएच-पांच बुधवार कई घंटे अवरुद्ध रहा। इसी तरह पांगी नाला सहित टापरी के पास भी एनएच पर ल्हासे व पत्थरों के गिरने की सूचना है।

बुधवार दोपहर तक एनएच-पांच को पूरी तरह बहाल कर दिए जाने के बाद एनएच पर वाहनों की आवाजाही सुचारू हुई। बुधवार 12 बजे के बाद रिकांगपिओ बाजार से शिमला की और भी छोटी बड़ी सभी वाहनों की आवाजाही शुरू हो गई। इस समय किन्नौर जिला के पर्यटन स्थल छितकुल सहित रकछम, बटसेरी, सांगला, कल्पा आदि क्षेत्रों में डेढ़ से तीन फीट के करीब बर्फ  गिरने से 60 पर्यटक होटलों में ही दुपकने को मजबूर हो गए है। यह सभी पर्यटक होटलों में रुके पड़े हैं जो अन्य गंतव्य स्थानों की ओर जाने के लिए सड़क बहाली की राह देख रहे हैं। एसडीएम कल्पा एवं जिला पर्यटन अधिकारी किन्नौर डा. मेजर अविंदर शर्मा ने बताया कि जिला के सभी सड़क मार्गो पर से बर्फ को हटाने का कार्य जारी है ताकि छितकुल, सांगला, कल्पा आदि क्षेत्रों में रुके पर्यटक अपने अपने गंतव्य स्थानों की ओर सुगमता से जा सकें।