Friday, September 24, 2021 04:57 AM

आरएम के पक्ष में उतरे परिवहन कर्मी

सरकाघाट में दिया धरना; तबादले को रद्द करने की मांग, जोगिंद्रनगर में भी हुआ विरोध निजी संवाददाता-सरकाघाट शिमला में तैनात परिवहन निगम के क्षेत्रीय प्रबंधक का तबादला नेरवा के लिए हुआ है। क्षेत्रीय प्रबंधक की निजी आपरेटरों से बहस हुई थी। इसी बीच उनका तबादला होने से परिवहन निगम के कर्मी उनके पक्ष में उतर आए हैं। शनिवार को सरकाघाट-जोगिंद्रनगर में उनके पक्ष में प्रदर्शन हुए, वहीं मंडी तक भी विरोध की आंच आती दिखी। इस दौरान शनिवार को सरकाघाट बस अड्डे पर कर्मचारियों ने धरना प्रदर्शन किया और कार्यकारी निदेशक के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय प्रबंधक का तबादला तुरंत रद्द किया जाए। अगर नहीं किया गया तो कर्मचारियों द्वारा धरना प्रदर्शन व चक्का जाम किया जाएगा, जिसकी पूरी जिम्मेदारी विभाग की होगी। गौरतलब है कि यह विवाद शिमला में क्षेत्रीय प्रबंधक और प्राइवेट बस ऑपरेटर के बीच उपजे टाइमिंग अलॉटमेंट को लेकर हुआ है। इस पर दोनों पक्षों में बहस हुई। इसके बाद निजी बस ऑपरेटर विरोध में आ गए थे और उन्होंने क्षेत्रीय प्रबंधक की शिकायत परिवहन विभाग को की थी। उसके बाद क्षेत्रीय प्रबंधक का तबादला शिमला से नेरवा को हो गया है।

जोगिंद्रनगर में नहीं चले 27 रूट जोगिंद्रनगर। हिमाचल पथ परिवहन निगम शिमला प्रकरण की चिंगारी जोगिंद्रनगर बस अड्डे में भी पहुंच गई और परिवहन निगम के स्थानीय लगभग 27 रूट प्रभावित हुए हैं, जिस कारण स्थानीय लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। परिवहन निगम के चालकों व परिचालकों ने यहां बस अड्डे पर मांगों को लेकर जमकर नारेबाजी की। स्थानीय बस अड्डे के दोनों गेटों पर बसें खड़ी करके अड्डा बंद कर दिया गया तथा उसके बाद प्रदर्शन कर सरकार के प्रति अपना रोष प्रकट किया। परिवहन निगम कर्मचारी यूनियन के प्रदेश महामंत्री संजय बड़वाल ने कहा कि जब तक मांगों को पूरा नहीं किया जाएगा उनकी हड़ताल जारी रहेगी।