Tuesday, September 29, 2020 04:29 AM

ऊना में गरजे मिड-डे मील वर्कर्ज

मांगों को लेकर किया प्रदर्शन, शिक्षा उपनिदेशक के माध्यम से सीएम को भेजा ज्ञापन

ऊना-जिला ऊना मिड-डे मील वर्कर्ज (संबंधित सीटू) ने राष्ट्रीय केंद्रीय यूनियनों के आह्वान पर जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन किया। इस दौरान अपनी मांगों को लेकर मिड-डे मील वर्करों ने खूब हल्ला बोला। कोरोना महामारी के चलते कई मिड-डे मील वर्करों ने अपने कार्य स्थलों पर भी प्रदर्शन किया। जिला कमेटी ऊना के पदाधिकारियों ने ऊना में प्रदर्शन किया और उपनिदेशक शिक्षा विभाग के माध्यम से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को ज्ञापन भी प्रेषित किया।

जिला सचिव सीटू कामरेड गुरनाम सिंह व  जिला सचिव मिड डे मील वर्कर यूनियन अनुराधा ने कहा कि सरकार द्वारा बजट में अप्रैल 2020 को 300 रुपए की बढ़ोतरी की घोषणा की गई थी। लेकिन सभी जिलों में इस को लागू नहीं किया। सरकार ने अभी तक उच्च न्यायालय के फैसले को भी लागू नहीं किया।  जिसमें 10 महीने की बजाय 12 महीने का वेतन देने का आदेश दिया गया था।

उन्होंने कहा कि मिड-डे मील वर्करों को न्यूनतम वेतन 8250 रुपए दिया जाए। उच्च न्यायालय के फैसले के अनुसार 10 की बजाय 12 महीने का वेतन दिया जाए। 25 छात्रों की शर्त हटाई जाए। मिड-डे मील वर्करों को सरकारी कर्मचारी घोषित किया जाए। 45वें श्रम सम्मेलन के मुताबिक मिड-डे मील वर्करों को नियमित सरकारी कर्मचारी घोषित किया जाए। मिड डे मील वर्करों के लिए पेंशन व ग्रेच्युटी की सुविधा लागू की जाए। प्रदेश सरकार द्वारा बजट में 300 रुपए की बढ़ोतरी को एक अप्रैल 2020 से लागू हो। इस प्रदर्शन में शामिल वर्करों में मनजीत कौर, सविता रानी, सुदेश कुमारी, आशा देवी, मीना कुमारी,रमा देवी, सुनिता कुमारी, सीमा, ओपी सिद्दू, शिव कुमार द्विवेदी व राम गोपाल शामिल हुए।

The post ऊना में गरजे मिड-डे मील वर्कर्ज appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.