Friday, October 30, 2020 03:56 AM

वैश्विक बाजार में जगह बनाने के लिए राष्ट्रीय खिलौना नीति बनाए सरकार

नई दिल्ली — छोटे कारोबारियों के संगठन अखिल भारतीय व्यापारी परिसंघ ने खिलौनों के वैश्विक बाजार में स्थान बनाने के लिए राष्ट्रीय खिलौना नीति तैयार करने की मांग की है। परिसंघ ने गुरुवार को केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल को लिखे एक पत्र में भारतीय खिलौनों का उत्पादन बढ़ाने तथा अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में भारतीय खिलौनों की पैठ बनाने के मद्देनजर राष्ट्रीय खिलौना नीति बनाने का आग्रह किया है।

परिसंघ ने पत्र में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय खिलौना क्षेत्र को सरकार की प्राथमिकता पर ले लिया है। भारतीय खिलौना क्षेत्र काफी विस्तृत, परंपरा, विविधता और युवा आबादी के साथ समृद्ध है जो भारत में गुणवत्ता वाले उच्चतम मानकों के खिलौनों के उत्पादन करने में सक्षम हैं जो न केवल घरेलू बाजार की आवश्यकता को पूरा करने बल्कि अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में एक प्रभावशाली हिस्सेदारी भी दर्ज कर सकता है।

प्रधानमंत्री ने 30 अगस्त को अपने मासिक कार्यक्रम ‘मन की बातÓ में भारतीय खिलौने निर्माताओं से अच्छी गुणवत्ता के खिलौने बनाने और खिलौनों के सात लाख करोड रुपए के वैश्विक खिलौना बाजार में महत्वपूर्ण हिस्सेदारी हासिल करने का आह्वान किया था।

परिसंघ के अनुसार इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए देश में सभी प्रकार के खिलौनों के निर्माण के लिए मापदंडों और दिशानिर्देशों को तैयार करने के लिए राष्ट्रीय खिलौना नीति की आवश्यकता है। प्रधानमंत्री की अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए भारतीय खिलौना क्षेत्र को मजबूत बनाने हेतु वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों एवं खिलौना उद्योग के प्रतिनिधियों को साथ लेकर एक कार्यबल का गठन किया जाना चाहिए।

The post वैश्विक बाजार में जगह बनाने के लिए राष्ट्रीय खिलौना नीति बनाए सरकार appeared first on Divya Himachal.