Thursday, August 06, 2020 06:59 AM

विकास दुबे गिरफ्तार, एमपी के उज्जैन महाकाल मंदिर में धरा हिस्ट्रीशीटर यूपी पुलिस के हवाले

उज्जैन – कानपुर शूटआउट का मुख्य आरोपी विकास दुबे आखिरकार गुरुवार को पुलिस की गिरफ्त में आ गया। आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के सातवें दिन विकास को मध्य प्रदेश के उज्जैन में महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया। हालांकि कहा जा रहा है विकास दुबे ने खुद ही स्थानीय मीडिया और पुलिस के सामने एक सोची-समझी रणनीति के तहत सरेंडर किया। पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद भी विकास पर कोई असर नहीं दिखा और मीडिया के सामने वह चिल्लाता हुआ नजर आया कि मैं विकास दुबे हूं, कानपुर वाला। हालांकि इसे पुलिस एनकाउंटर से बचने का उसका हथकंडा माना जा रहा है। उसे सख्त सुरक्षा प्रबंधों के बीच रखकर दिन में पूछताछ की गई तो, शाम को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए उसकी जज के सामने पेशी हुई। मध्यप्रदेश पुलिस ने आवश्यक वैधानिक कार्रवाई के बाद विकास दुबे और उसके साथ पकड़े गए दो अन्य आरोपियों को गुरुवार शाम को यूपी पुलिस के हवाले कर दिया। खबर लिखे जाने तक यूपी पुलिस उसे चार्टर्ड विमान में बिठाकर लखनऊ के लिए निकल चुकी थी। इस लिहाज से अगले 24 घंटे इस मामले में बेहद अहम होने वाले हैं। उधर, यूपी पुलिस ने विकास दुबे की पत्नी और बेटे को हिरासत में ले लिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरुवार सुबह पकड़े जाने के बाद भी विकास दुबे के चेहरे पर कोई डर या शिकन नजर नहीं आ रही थी। उज्जैन पुलिस के सामने वह उसी हेकड़ी से तनकर गाड़ी तक पहुंचा। गाड़ी के पास आकर जब पुलिस ने उसे पकड़कर अंदर बैठाने का प्रयास किया तो विकास दुबे जोर से चिल्लाया कि मैं विकास दुबे हूं, कानपुर वाला। उसके इतना बोलते ही हेकड़ी कम करने के लिए पीछे खड़े एक पुलिसवाले ने उसे एक थप्पड़ जड़ दिया। यह वीडियो खूब वायरल हो रहा है। वहीं, मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी विकास दुबे की गिरफ्तारी की पुष्टि की। मंदिर के अंदर या बाहर, कहां से गिरफ्तारी हुई, इसके बारे में कहना ठीक नहीं। बता दें कि यूपी पुलिस की 40 से अधिक टीमें और क्राइम ब्रांच की टीम उसे कई प्रदेशों में तलाश रही थी। पुलिस की कड़ी पहरेदारी के बावजूद विकास पहले कानपुर से हरियाणा पहुंचा। वहां वह फरीदाबाद के एक होटल में रुका। पुलिस पहुंचती उससे पहले ही विकास उस होटल से भी फरार हो गया। हालांकि सीसीटीवी में उसकी फोटो कैद हो गई। इसके बाद उसके सरेंडर की अटकलें तेज हो गईं। मगर फरीदाबाद से निकलकर विकास मध्य प्रदेश पहुंच गया। वह उज्जैन में एक शराब व्यापारी के घर रुका था और फिर महाकाल मंदिर गया। जहां उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

सरेंडर करने ही मंदिर आया था हिस्ट्रीशीटर

सूत्रों के अनुसार यूपी पुलिस के एनकाउंटर से बचने के लिए ही विकास उज्जैन आया था। गुरुवार सुबह करीब नौ बजे विकास महाकाल मंदिर में शंख द्वार वाले वीआईपी दर्शन के टिकट काउंटर पर गया और 250 रुपए की वीआईपी टिकट कटवाई। यहां उसने अपना असली नाम ही लिखवाया और मोबाइल नंबर भी दिया। इसके बाद विकास एक प्रसाद की दुकान पर गया और कहा कि बैग रखना चाहता हूं। इसके बाद मंदिर परिसर में दाखिल हो गया। उसे पता था कि उसकी तस्वीरें वायरल हो चुकी हैं और मंदिर में प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड के अलावा उज्जैन पुलिस भी तैनात है। मंदिर के अंदर जाने के दौरान एक सिक्योरिटी गार्ड को शक हुआ। उसने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज देखे। तब तक विकास महाकाल के दर्शन कर चुका था और मंदिर परिसर में घूम रहा था। पुलिस उसकी लोकेशन देखकर मंदिर के अंदर दाखिल हुई और उसे हिरासत में ले लिया।

एमपी के गृहमंत्री से गिरफ्तारी कनेक्शन

भोपाल – मध्य प्रदेश कांग्रेस ने राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा को ही विकास दुबे की गिरफ्तारी पर कठघरे में खड़ा कर दिया। कांग्रेस ने ट्वीट कर बताया कि नरोत्तम मिश्रा अभी उज्जैन के प्रभारी हैं और यूपी चुनाव के समय कानपुर के प्रभारी थे। आगे आप खुद समझदार हैं। वहीं, दिग्विजय सिंह ने भी मामले की न्यायिक जांच की मांग की है।

एक दिन पहले आठ पुलिसकर्मी ट्रांसफर

जिस उज्जैन पुलिस थाना के अंतर्गत विकास दुबे की गिरफ्तारी हुई, उस थाने के एसएचओ समेत आठ पुलिसकर्मियों का बुधवार को ही तबादला किया गया था। बड़े पैमाने पर की गई ट्रांसफर कई सवाल खड़े कर रही है।

The post विकास दुबे गिरफ्तार, एमपी के उज्जैन महाकाल मंदिर में धरा हिस्ट्रीशीटर यूपी पुलिस के हवाले appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.