Saturday, November 27, 2021 10:54 PM

प्रियंका की जिद के आगे झुकी योगी सरकार, अढ़ाई घंटे हिरासत में रखने के बाद छोड़ा

पांच लोगों के साथ आगरा जाने की मिली अनमुति

पुलिस कस्टडी में जान गंवाने वाले सफाईकर्मी के परिवार से मिलने निकलीं

एजेंसियां — आगरा

पुलिस हिरासत में आगरा में मारे गए सफाई कर्मी अरुण वाल्मीकि के परिवार से मिलने आगरा जाने पर अड़ीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को काफी जद्दोजहद के बाद अंतत: बुधवार शाम को इसकी अनुमति मिल सकी। प्रशासन द्वारा पांच लोगों के साथ आगरा जाने की अनमुति दिए जाने के बाद प्रियंका गांधी शाम को रिजर्व पुलिस लाइंस लखनऊ से निकलीं। इससे पहले आगरा जाते समय उन्हें रोक लिया गया था। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को 17 दिनों के भीतर दूसरी बार पुलिस ने हिरासत में ले लिया। बता दें कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पीडि़त परिजनों से मिलने के लिए आगरा जा रही थीं, लेकिन आगरा एक्सप्रेस-वे पर टोल प्लाजा पर उन्हें रोक लिया गया।

लखनऊ पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। हालांकि हिरासत के अढ़ाई घंटे बाद प्रियंका को आगरा जाने की परमिशन मिल गई। वहीं, सेल्फी लेने वाली महिला पुलिस कर्मियों पर जांच की बात उठते ही सोशल मीडिया पर प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया। उन्होंने कहा कि खबर आ रही है कि इस तस्वीर से योगी जी इतने व्यथित हो गए कि इन महिला पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई करना चाहते हैं। अगर मेरे साथ तस्वीर लेना गुनाह है, तो इसकी सजा भी मुझे मिले, इन कर्मठ और निष्ठावान पुलिसकर्मियों का कैरियर खराब करना सरकार को शोभा नहीं देता।

पुलिसकर्मियों संग ली सेल्फी और पूछा, मेरा नया नारा सुना है?

आगरा में पुलिस अभिरक्षा के दौरान जान गंवाने वाले सफाई कर्मी के परिवार से मुलाकात करने जा रही प्रियंका गांधी बुधवार दोपहर प्रशासन ने आगरा एक्सप्रेस-वे के एंट्री प्वॉइंट पर रोक लिया। इस दौरान प्रियंका को रोकने आईं महिला पुलिसकर्मियों ने उनके साथ फोटो खिंचाई। इन महिला पुलिसकर्मियों से बात करते हुए प्रियंका गांधी ने पूछा कि क्या उन्होंने उनका नया नारा सुना है?

फ्लीट रुकवाकर जख्मी युवती का किया फस्र्ट एड

प्रियंका गांधी पीडि़त से मिलने के लिए आगरा रवाना हुईं। इस दौरान लखनऊ स्थित 1090 चौराहे पर एक युवती के एक्सीडेंट की उन्हें सूचना मिली। ऐसे में प्रियंका ने अपनी फ्लीट रुकवाई और फस्र्ट एड किट मंगाकर युवती के घाव को साफ किया। खुद ही पट्टी भी बांधी और अपना नंबर दिया। इसके बाद युवती को अस्पताल भिजवाया।