युवा कलाकार खुद बनाएं अपने लिए रास्ता

मुंबई — बॉलीवुड में नेपोटिज्म को लेकर जारी बहस के बीच माचो मैन जॉन अब्राहम ने युवा कलाकारों को खुद के लिए रास्ता बनाने की सलाह दी है। सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद से ही इंडस्ट्री में फैले नेपोटिज्म को लेकर बहस छिड़ी हुई है। जॉन अब्राहम ने नेपोटिज्म पर अपनी राय रखी है। जॉन अब्राहम ने कड़ी मेहनत कर खुद के लिए इंडस्ट्री में जगह बनाई है। जॉन ने इनसाइडर-आउटसाइडर की तुलना ट्विटर ट्रेंडिंग टर्म से की।

जॉन अब्राहम ने कहा कि हर किसी का अपना सफर होता है। अपने चैलेंजेज होते हैं और यहां इस इंडस्ट्री में केवल दो विकल्प हैं, या तो काम करो या फिर बैठकर बस जहर घोलते रहो। जब मैंने अपने मॉडलिंग करियर की शुरुआत की थी तो मैं एक आउटसाइडर ही था।

नए लोग जो इंडस्ट्री में आ रहे हैं और जो युवा यहां आने की प्लानिंग कर रहे हैं वे सभी खुद के लिए नया रास्ता ढूंढे। यदि कोई काम नहीं मिलता है तो खुद के लिए काम बनाएं।

आइए जाने कौन हैं जॉन अब्राहम

17 दिसंबर,1972 को जन्मे जॉन अब्राहम अभिनेता और पूर्व मॉडल हैं। कई विज्ञापनों और कंपनियों के लिए मॉडलिंग करने के बाद, अब्राहम ने जिस्म (2003) से अपना फिल्मी सफर शुरू किया, जिसने उन्हें फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ नवागत पुरस्कार नामांकन दिलाया। इसके बाद उन्हें अपनी पहली व्यावसायिक सफलता धूम (2004) के द्वारा मिली, उन्हें नकारात्मक भूमिका के लिए दो फिल्म फेयर नामांकन प्राप्त हुए, धूम और फिर जिंदा (2006) में बाद में वह एक बड़ी महत्त्वपूर्ण सफल फिल्म वाटर (2005) में दिखाई दिए। 2007 में फिल्म बाबुल के लिए उनका नामांकन फिल्म फेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक की श्रेणी में किया गया।

अब्राहम का जन्म सिद्घी मुंबई में हुआ, उनके पिता जितेंद्र सिद्धी और मां पारसी हैं। उनके पिता अलवाए, केरला से एक शिल्पकार हैं; उनकी मां का नाम फिरोजा ईरानी हैं। अब्राहम का पारसी नाम फरहान है, पर उनके पिता, जो एक सिरियन क्रिस्चियन हैं, उन्होंने उनका नाम जॉन रखा। उनका एक छोटा भाई भी है, जिसका नाम एलन है। अब्राहम ने बॉम्बे स्कॉटिश स्कूल, माहिम (मुंबई) में अध्ययन किया और मुंबई शैक्षिक ट्रस्ट से एमएमएस किया।

The post युवा कलाकार खुद बनाएं अपने लिए रास्ता appeared first on Divya Himachal.

Related Stories: