Monday, October 26, 2020 09:48 AM

युवा सेवा एवं खेल विभाग हमीरपुर तराशने लगा खिलाडि़यों का हुनर

खिलाड़ी सुबह और शाम के सत्र में ले सकेंगे ट्रेंनिग

हमीरपुर-युवा सेवा एवं खेल विभाग हमीरपुर मंगलवार से जिला में खेल प्रशिक्षण शुरू कर रहा है। खिलाडि़यों को सुबह-शाम एथलेटिक्स, हाकी, कबड्डी और वालीबाल का प्रशिक्षण दिया जाएगा। हालांकि प्रशिक्षण में भाग लेने वाले खिलाडि़यों को कोविड-19 नियमों की शर्तों को मानना होगा, उसके उपरांत ही उन्हें मैदान में एंट्री दी जाएगी। बता दें कि कोरोना महामारी के चलते खिलाडि़यों का प्रशिक्षण मार्च माह से बंद पड़ा हुआ है। हालांकि खिलाडि़यों ने अपने स्तर पर ही प्रशिक्षण शुरू कर दिया है।  युवा सेवा एवं खेल विभाग हमीरपुर ने इसी को ध्यान में रखते हुए एथलेटिक्स खिलाडि़यों को सुबह छह से नौ बजे तक और शाम पांच से सात बजे तक सिंथेटिक ट्रैक अणु में प्रशिक्षण प्राप्त कर सकेंगे। वालीबाल का सुबह छह से नौ बजे और शाम पांच से सात बजे तक हमीरपुर महाविद्यालय में और हाकी का प्रशिक्षण सुबह छह से नौ बजे तक सुजानपुर टीहरा में और शाम को तीन से पांच बजे बाल स्कूल हमीरपुर में दिया जाएगा। इसी तरह कबड्डी का प्रशिक्षण भी सुबह-शाम गौतम कालेज में करवाया जाएगा। कोई भी खिलाड़ी इन प्रशिक्षणों में सुबह-शाम भाग ले सकता है। युवा सेवा एवं खेल विभाग हमीरपुर ने खेल गतिविधियों को सुचारू करने एवं प्रशिक्षकों को कोविड-19 के संक्रमण से बचाव हेतु मानक संचालक प्रक्रिया (एसओपी) निर्धारित कर दी है। सभी खिलाडि़यों और प्रशिक्षकों को आरोग्य सेतू एप्लीकेशन डाउनलोड करना होगा। खिलाडि़यों को खेल अभ्यास में प्रवेश के लिए अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय और राज्य स्तर के खिलाड़ी को प्राथमिकता दी जाएगी। खिलाडि़यों का प्रतिदिन आक्सीमीटर पर आक्सीजन लेवल भी चैक करना अनिवार्य होगा। प्रत्येक खिलाड़ी को प्रत्येक सत्र से पूर्व थर्मल स्क्रीनिंग अनिवार्य करना रहेगा, जिसका रिकार्ड रखा जाना भी अनिवार्य होगा। खिलाडि़यों के अभिभावक अथवा अन्य किसी व्यक्ति को क्वारंटाइन अवधि में खिलाड़ी से मिलने या परिसर में आने की अनुमति नहीं रहेगी। कोविड संक्रमित व्यक्ति का प्रवेश निषेध रहेगा। खेल परिसर में कंटेनमेंट क्षेत्र के खिलाड़ी का प्रवेश निषेध रहेगा। प्रशिक्षक द्वारा प्रशिक्षण स्थल की क्षमता के अनुरूप समयसारिणी तैयार कर खिलाडि़यों को प्रवेश दिया जाएगा। क्षमता से अधिक खिलाडि़यों का प्रवेश वर्जित रहेगा। प्रशिक्षण के दौरान उपयोग में होने वाले उपकरण को आपस में अदला-बदली करके उपयोग करना वर्जित होगा। प्रशिक्षण के दौरान खेल मैदान को प्रशिक्षण से पूर्व एवं बाद में सेनिटाइज किया जाना आवश्यक रहेगा। खिलाड़ी को अपनी व्यक्तिगत किट अभ्यास सत्र से पूर्व एवं पश्चात चेंज करना अनिवार्य होगा। अगर एक समय में दो प्रशिक्षण सत्र हों, तो पहले खिलाडि़यों को जाने के बाद अभ्यास स्थान को सेनेटाइज करने के उपरांत ही दूसरे समूह के खिलाडि़यों को प्रवेश करने दिया जाएगा। खिलाड़ी अपने स्वयं के उपकरण का इस्तेमाल करेंगे। 18 वर्ष से नीचे के खिलाडि़यों को अपने माता-पिता से सहमति पत्र लिया जाएगा। मैदान में 50 वर्ष से ऊपर के खिलाडि़यों का प्रवेश वर्जित रहेगा।

The post युवा सेवा एवं खेल विभाग हमीरपुर तराशने लगा खिलाडि़यों का हुनर appeared first on Divya Himachal.