Monday, November 19, 2018 05:04 PM

एचआरटीसी के 120 बस रूट ठप

बारिश-बर्फबारी से सड़कें बंद; जनजीवन अस्त-व्यस्त, अलग-थलग पड़ा ऊपरी शिमला

शिमला— हिमाचल प्रदेश में विंटर सीजन की दूसरी बर्फबारी ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। जिला शिमला के ऊपरी क्षेत्रों में भारी बर्फबारी के चलते ऊपरी शिमला का शिमला से संपर्क कट गया है। शिमला के साथ-साथ भारी हिमपात के चलते रोहतांग-कुल्लू के जलोड़ी दर्रा और चंबा जोत मार्ग भी वाहनों की आवाजाही के लिए बंद पड़ गए हैं,जिसके चलते उक्त क्षेत्रों में जनता को कड़ाके की ठंड में पैदल सफर कर गंतव्य तक पहुंचना पड़ा। ताजा बर्फबारी के चलते एचआरटीसी के 120 के करीब रूट प्रभावित हुए हैं। जिला शिमला के ऊपरी क्षेत्रों में रविवार रात को ही बर्फबारी का क्रम शुरू हो गया था, जिसके चलते राष्ट्रीय राजमार्ग पर सोमवार देर शाम तक वाहनों की आवाजाही ठप रही। जिला के रामपुर व रिकांगपिओ के लिए शिमला से वाया बसंतपुर होकर बसें भेजी गई। हालांकि सोमवार सुबह के समय रोहड़ू से शिमला को तीन बसें पहुंचने की सूचना है। मगर सुबह के समय हुई भारी बर्फबारी के चलते 10 बजे के बाद खड़ापत्थर में वाहनों की आवाजाही ठप हो गई। ऐसे में निगम प्रबंधन ने रोहड़ू के लिए वाया पांवटा होकर एक बस भेजी गई है, जबकि सोमवार को चौपाल के लिए बसों की आवाजाही पूर्ण रूप से बंद  रही। निगम प्रबंधन ने ट्रायल पर चौपाल के लिए बसें भेजी गई थी। मगर उक्त बसें आधे  में ही फंस गई।  वहीं जलोड़ी दर्रा में मार्ग बंद होने से बंजार-आनी मार्ग पर भी बसों की आवाजाही ठप रही। भारी बर्फबारी के चलते निगम प्रबंधन द्वारा चंबा जोत के लिए भी बसें नहीं भेजी गई है। पथ परिवहन निगम के मंडलीय प्रबंधक पंकज सिंघल ने बताया कि ताजा बर्फबारी के चलते जिला शिमला में बससे अधिक रूट प्रभावित हुए हैं। ऊपरी शिमला के लिए वैकल्पिक मार्ग से बसें भेजी गई हैं। कुल्लू में बंजार आनी और चंबा जोत पर भी बसें नहीं चल पाई।   बहरहाल ताजा हिमपात से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो कर रह गया है। लोगों को पैदल सफर करना पड़ा ।